PM Kisan Yojana Camps | किसानों की ई केवाईसी के लिए तहसीलों पर लगेंगे शिविर

PM Kisan Yojana Camps | पीएम किसान योजना के लिए कैम्प लगेंगे। पीएम किसान सम्मान निधि योजना

पीएम किसान सम्मान निधि की 13वीं किस्त जनवरी के पहले सप्ताह में आ सकती है। अगर किसान ने अपनी ई केवाईसी नहीं कराई है,तो उसकी किस्त रूक सकती है। अब हर तहसील पर ई केवाईसी कराई जाएगी। जिसके लिए 2 जनवरी से शिविर लगाए जाएंगे।

Pm kisan yojana camps: पीएम किसान सम्मान निधि योजना किसानों के बीच काफी लोकप्रिय योजना है। इसका प्रमुख कारण ये हैं कि इस योजना के माध्यम से किसानों को सीधा लाभ प्रदान किया जाता है। इस योजना में और अधिक पारदर्शिता लाने के लिए सरकार ने ई-केवाईसी कराना अनिवार्य कर दिया है। ई-केवाईसी कराने के बाद ही पीएम किसान सम्मान निधि की अगली किस्त किसानों को मिल सकेगी। इसे देखते हुए किसानों को ई-केवाईसी कराना चाहिए ताकि वे बिना रूकावट पीएम किसान सम्मान निधि की राशि का लाभ प्राप्त कर सकें। 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों की 13वीं किस्त के भुगतान से पूर्व अवशेष भूलेख अंकन एवं ई- केवाईसी शत-प्रतिशत पूरी कराए जाने के लिए दो से सात जनवरी तक सभी तहसीलों में एसडीएम की अध्यक्षता में शिविरों का आयोजन किया जाएगा। 

PM Kisan Yojana Camps for E-KYC

सभी ग्राम पंचायतों में पंचायत घरों पर कृषि विभाग के प्राविधिक सहायक ग्रुप-सी एवं जन सुविधा केंद्र संचालकों द्वारा ग्राम पंचायतवार रोस्टर के अनुसार शिविर लगाकर इस कार्य को पूरा किया जाएगा। 

मोबाइल से घर बैठे ekyc कैसे करे के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जाये

मोबाइल से पीएम किसान ekyc कैसे करे जाने तरीका

योजना की 13 वीं किस्त जनवरी के प्रथम पक्ष में जारी होनी है। जिन कृषकों की ई-केवाईसी नहीं होगी, तो ऐसे कृषक 13 वीं किस्त से वंचित रह जाएंगे। ई-केवाईसी और भूलेख अंकन से छूटे कृषकों की सूची पंचायतघर पर दो जनवरी को चस्पा की जाएगी।

Pm kisan yojana camps Jhunjhunu

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों की 13वीं किस्त के भुगतान से पूर्व झुंझुनू में 3 ओर 4 को प्रत्येक ग्राम पंचायत में कैम्प लगेंगे। जिला कलेक्टर ने बोला कि pm kisan yojna के लिए ई KYC जरूरी है । किसान ने अपनी ई केवाईसी नहीं कराई है,तो उसकी किस्त रूक सकती है।

-केवाईसी कराने के लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी जो इस प्रकार से हैं- 

  • किसान का पहचान पत्र
  • किसान का पते का सबूत-  (जैसे राशन कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड में से कोई एक)
  • बता दें कि पैन कार्ड सिर्फ आइडेटिटी प्रूफ होता है। इसमें आपका पता नहीं होता है लेकिन बाकी के डॉक्यूमेंट में आप अपने एड्रेस को भी वेरिफाई कर सकते हैं। ये सभी डॉक्यूमेंट केवाईसी दस्तावेज कहलाते हैं।
अन्य लोगों को शेयर करे

Leave a Comment