Mandir ka Pujari बना रेपिस्ट | बाबा बलात्कारी पर 25000 का इनाम था घोषित

Mandir ka Pujari: 11 माह से फरार चल रहे 25,000 के इनामी बाबा बलात्कारी को बाड़मेर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने गुजरात के जूनागढ़ से बलात्कारी लाल बाबा को गिरफ्तार कर बाड़मेर लाई 

Rajasthan News mandir ka pujari  इतना शातिर था की हर बार अपना हुलिया और नाम बदलकर जगह बदल लेता था. इसलिए पुलिस की गिरफ्त में आरोपी नहीं आ रहा था.

राजस्थान में नाबालिग से रेप के बाद दाढ़ी कटवाई, गुजरात में रह रहा था वेश बदलकर

हाइलाइट्स

  • 4 राज्यों में तलाशी और 11 हजार किमी छानबीन के बाद पकड़ा गया बलात्कारी बाबा.
  • राजस्थान के बाड़मेर महिला थाना में दर्ज था नाबालिग लड़की से रेप करने का मामला.
  • गुजरात के जूनागढ़ में नाम व हुलिया बदलकर रह रहा था बाड़मेर का बलात्कारी बाबा.
  • मंदिर के पुजारी पर 25000 का इनाम
 11 माह से फरार चल रहे 25,000 के इनामी बाबा बलात्कारी को बाड़मेर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने गुजरात के जूनागढ़ से बलात्कारी लाल बाबा को गिरफ्तार कर बाड़मेर लाई और बाबा से गहन पूछताछ कर रही है. जानकारी के अनुसार, जनवरी 2022 में एक नाबालिग ने महिला थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि लाल बाबा ने उसके साथ दुष्कर्म कर उसको गर्भवती किया और कुछ महीने बाद अबॉर्शन करवा दिया. जैसे ही महिला थाने में बाबा के खिलाफ मामला दर्ज हुआ तो बाबा भूमिगत हो गया. पुलिस ने टीमें गठित कर अलग-अलग राज्यों में छानबीन शुरू की, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला.

Mandir ka pujari बना बाबा बलात्कारी

11 महीने बाद पुलिस ने गुरुवार को उसे जूनागढ़ (गुजरात) से गिरफ्तार किया है। उस पर 25 हजार का इनाम था। उसने अपनी दाढ़ी कटवा ली है। पूरी तरह हुलिया बदल लिया है। वेश बदलकर वह मंदिर में पुजारी बनकर रह रहा था। कुछ क्षण के लिए तो पुलिस भी उसे पहचान नहीं पाई। पुलिस के पास एक साल पुराना जो फोटो थी, उसमें घनी दाढ़ी और मूंछें थीं। फरारी के दौरान उसने अपने कई बार नाम भी बदले हैं। 

Alwar rape case news | निर्भया’ जैसी दरिंदगी, 15 वर्षीय मंदबुद्धि लड़की से रेप का मामला

न्याय के मंदिर में जुर्म ! महिला ने कोर्ट परिसर में गैंगरेप करने का लगाया आरोप

Barmer में पोर्न वीडियो सर्च, अपलोड करना पड़ा मंहगा, 1 युवक गिरफ्तार

पिछले साल जनवरी में दर्ज हुआ था मामला

जनवरी 2021 में बाड़मेर महिला थाने में रेप पीड़िता ने मामला दर्ज करवाया था। रिपोर्ट में बताया था कि तांत्रिक लाल बाबा उर्फ देवनारायण उर्फ देवदास उर्फ चुन्नी लाल उर्फ वीरदेव पुत्र शंकरराम गुरु किशोरदास चाचा-चाची के घर पर आता था। चाची भतीजी को दवा खिलाकर बेहोश कर देती थी। इसके बाद तांत्रिक रेप करता था। किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी देता था। प्रेग्नेंट नहीं हो इसके लिए अबॉर्शन के लिए गोलियां भी खिलाईं। शादी के बाद प्रेग्नेंट नहीं होने पर डॉक्टरों से जांच करवाने पर खुलासा हुआ कि लड़की का अबॉर्शन हो चुका है। इसके बाद पीड़िता ने आपबीती अपने पति को बताई। तब जाकर मामला थाने पहुंचा।

पुलिस के अनुसार, बाड़मेर में वारदात के दौरान लाल बाबा की दाढ़ी-मूंछ थी। महिला थाने में एफआईआर होने के बाद उसने अपना वेश बदल लिया। दाढ़ी-मूंछ कटवा ली। कभी जिंस पैंट में रहता था तो कभी काला चश्मा लगाकर घूमता था। कभी सफेद तो कभी भगवा रंग के कपड़े पहनता था। पुलिस उसे पहचान नहीं पा रही थी। इस दौरान उसने अपने नाम लाल बाबा से देवनारायण, देवदास, चुन्नीलाल, वीरदेव तक बताए।

काली माता के मंदिर से पकड़ा

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी बाबा को जिस मंदिर से हिरासत में लिया था, वहां कोई साधु रहता था। उसके जाने के बाद वह मंदिर को संभालने लगा। यहां पूजा-पाठ के साथ नाड़ी देखता है और लोगों को देसी दवाइयां भी देता था। 

अन्य लोगों को शेयर करे

Leave a Comment